Agar tum saath ho

उँगलियों का होना तब तक ही वाजिब जितना तुम्हारे हाथ का मेरे हाथों में असहज होना और तुम्हारे जाने के बाद उस अकेले हाथ याद की तकलीफ़. मौत क्या है जब पीछे से तुम्हें कोई पुकारे कितने ही बार बार-बार मिन्नतों के साथ और तुम पलट कर यह देखना बंद कर दो कि – किसने […]

An ode to a city with no names

एक शहर वो भी होते हैं जहाँ प्रेमी फिर से मिलने का वादा करते हैं जो गवाह होते हैं आखिरी वक्त तक इंतजार करने की बातों के रीत जाने का और शहर फिर हँसता है धीरे से एक शहर वो भी होता है जहाँ सूरज छिपता है लड़की के बालों में लगे फूलों के पीछे […]

Convincing

I always thought there was something so romantic about fighting for someone I always wondered that there was something so powerful about waiting for someone I always believed that love waited till eternity and there was something so surreal about not giving up on someone but as i sit here with a nagging pain in […]

लौट कर आना तुम

लौट कर आना तुमजब पत्तों के झड़ने का मौसम आयेखटखटाते बंद खिड़कियों के पालेलौट कर आना तुमजब सवेरे की सर्द हवालाये मुट्ठी मे बंद करतुम्हारा यूँ ज़रा सा मुस्कुरानालौट कर आना तुमजब वक्त भाग कर करे पीछाबारिश छुपाये बादलों कोलौट कर आना तुमचिट्ठियों के मौसम मेनंगे पैर ओस पर चलने कोलौट कर आना तुमयूँ कभी […]

Act your age

वह: क्या हर बारिश में इतना खुश होना जरूरी है ? काले बादल आये नहीं कि नाचने लगना ? थोड़ा तो act your age. तुम क्या बच्ची हो जो चक्करघिन्नी की तरह नाचने लगो बारिश को देख कर। वो : क्योंकि बारिश सब कुछ धो देती है, हर उस धूल को जो समय की गर्त […]