Those Moments

Those Moments Like ordering everything on the menu Just to watch you try to make me eat it all Forgetting everything that shouldn’t be And getting your call to get s reminder Those Moments of endless talks Trying unsuccessfully to flirt my way So that you get the clue Those moments Like finally having the […]

कुछ लम्हों में सिर्फ प्रेमिका बन कर रह जाती है वो

कुछ लम्हों  में सिर्फ प्रेमिका बन कर रह जाती है वो उतार फेंकती है वो सब कुछ जो ओढ़ लिया है ज़िन्दगी की तरह जब जॉर्डन के साथ देती है जवाब “और कहीं रह नहीं पाउँगा मैं”….हीर के पूछने पर जब मिन्नत करती है वेद को कि मिला दे उसे खुद से कभी और तारा […]

इक उदास शहर का वादा

इक उदास  शहर में एक गुलाबी रात चाँद से उतर कर जब एक किस्सा लिखा जा रहा था सतरंगी दुपट्टे में तो वो बेरंग शहर चमक उठा था  टिमटिमाते रंगों में महलों से झांकती उदास खिड़कियाँ यूँ हँस दी  थी किसी के साथ कहते हैं लोग कि गुलाबी बिखर गया था पलाश के पीले पत्तों सा […]

दुनिया के सभी पापा के नाम

ट्रेन यात्रा के मेरे किस्सों में कल बहुत प्यारी सी कहानी जुड़ गयी. बीच सफ़र में, एक परिवार मेरी सामनी वाली सीट पर आ कर बैठा, पति, पत्नी और उनकी छोटी सी बेटी जिसका नाम पिहू था.पर सिर्फ ये तीन साथ में सफ़र कर रहे हो ऐसा नहीं था- पिहू के दो दोस्त भी थे- […]

I just want to sleep

A little drizzle lays bare On a face with a salty tint the naked arms which shiver Of cold , of pain, of breathless whispers  I try to speak and I choke of dreams Amid the fading away of screams  Turn by turn scars shout  It’s Me! It’s Me! It’s Me! out loud I dust […]