यादों की निर्जन बस्ती में,पोटली लिए फिरा करती है झुमका,रिंग, हँसी,काजल,इमरोज़ के इश्क से इश्क करती है

यादों की निर्जन बस्ती में,पोटली लिए फिरा करती है झुमका,रिंग, हँसी,काजल,इमरोज़ के इश्क से इश्क करती है

Category: Sakshaat- The Better World

Nukkad Teafé- This is a place how our world should be exactly like, a HAPPY place

Nukkad Teafé- This is a place how our world should be exactly like, a HAPPY place

In the sleepy town of Bhilai, Chhattisgarh, there is a café with which you would like to have a long term commitment with. The ‘Nukkad Teafe’ only employees people with visual and speech impairment along with members of the transgender community and that is why […]

“लड़का होगा तो वंश बढ़ायेगा” को साक्षी की धोबी पछाड़

“लड़का होगा तो वंश बढ़ायेगा” को साक्षी की धोबी पछाड़

  11 दिन की मायूसी के बाद भारतीय प्रशंसकों को जश्न मनाने का मौका मिल गया है ।58 किलोवर्ग में महिला पहलवान साक्षी मलिक ने किर्गिस्तान की ऐसुलू ताइनीबेकोवा को 8-5 से हराकर ब्रॉन्ज मेडल जीता। पहले पीरियड में 5-0 से पिछड़ने के बाद साक्षी […]

SAKSHAAT 7.0: नाम तो सुना ही होगा ..मिलिये द लल्लनटॉप की टीम से

SAKSHAAT 7.0: नाम तो सुना ही होगा ..मिलिये द लल्लनटॉप की टीम से

  जेठ की तपती दुपहरी में मैं नोयडा फिल्म सिटी पहुँचती हूँ, लल्लनटॉप के ऑफिस. एक खुशनुमा सा इनफॉर्मल सा ऑफिस जिसमें बीच बीच में “अरे ये पीस ठीक है क्या” के साथ ठहाकों की आवाज़ सुनाई देती है. लल्लनटॉप के सरपंच सौरभ से बातचीत […]