कॉम्बिफ्लैम का वो सच जो आपको व्हाट्सएप नहीं बताएगा

इंटरनेट की दुनिया ने जहाँ आपको सक्षम बनाया है, वहीं दूसरी ओर व्हाट्सएप, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया साइट्स ने फेक न्यूज़, झूठी ख़बरों का ऐसा जाल बिछाया है जो हम सभी को अपने अन्दर ले रहा है. कितना आसान है आज के दौर में व्हाट्सएप पर कोई बेबुनियाद ख़बर डालना और उसका कोने कोने में पहुँच जाना.

ऐसे ही किसी रोज़ एक दफा एक मरीज़आया और इंटरनेट से मिले अपने अधूरे ग्यान को दिखाने लगा। बुखार और शरीर के दर्द को जब देखकर मैंने कॉम्बिफ्लैम लिखा तो उसने कहा कि “अरे डाक्टर साब मैंने व्हाट्सएप पर पढ़ा है कि कॉम्बिफ्लैम बैंड है।”

Source:https://www.thequint.com/news/india/viral-combiflam-kill-you-fake-misleading

मैंने पहले तसल्ली से उसकी पूरी बात सुनी। जानती हूँ कि गलती उसकी नहीं है। एक पूरे सिस्टमेटिक तरीक़े से इस झूठ को फैलाया जा रहा है। मैने उसे समझाया,वैग्यानिक साक्ष्य के साथ,और फिर दो दिन बाद उसने बताया कि वो बेहतर महसूस कर रहा है। आप पूछेंगे कि मैंने उससे ऐसा क्या कहा…बस वही कहा जो सच है।आप भी सुनिए ये सच्चाई:

कुछ महीनों से सोशल मीडिया पर एक मेसेज वायरल हो रहा है कि सामान्य दर्द और बुखार में खाई जाने वाली टेबलट कॉम्बिफ्लैम बैन हुई है।इस मेसेज में लिखा है,‘कॉम्बिफ्लैम की एक गोली आपकी जान भी ले सकती है।’ जानकारी के लिए बता दें कि यह दवा एक जानी मानी कंपनी का मशहूर ब्राण्ड है, जो हर कैमिस्ट परआसानी से मिलती है। यानी इसे बिना प्रिस्क्रिप्शन के भी लोग डायरेक्ट केमिस्ट से ले सकते हैं। इसका इस्तेमाल सर्दी, बुखार, फ्लू, सूजन और दर्द आदि से आराम पाने के लिए किया जाता है। कॉम्बिफ्लैम कभी बैन नहीं हुई थी.सोशल मीडिया पर चलने वाला यह मैसेज पुराना है।यह ख़बर पुरानी ही नहीं बल्कि एकअफवाह है। इसलिए इसे पढ़कर परेशान न हों। हालांकि डॉक्टरों का कहना है किअगर कोई भी दवा लेता है तो खाने से पहले इसकी मेन्युफेक्चरिंग डेट और बैच नंबर ज़रूर देख लें। इससे सेफ रहेंगे।

Source- The Quint

क्या है कॉम्बिफ्लैम?

कॉम्बिफ्लैम टैबलेट एक तरह का नॉन-स्टेरॉयडल एंटी-इन्फ्लामेट्री ड्रग (NSAID) होता है जो दर्द, बुखार केअलावा सर्दी-ज़ुखाम में भी इस्तेमाल होता है. कॉम्बिफ्लैम का मेटाबोलिज्म लीवर से होता है जिससे यहआसानी से आपके मूत्र के माध्यम से बाहर निकल जाता है. कॉम्बिफ्लैमआइबूप्रोफेनऔर पेरासिटामोल का कॉम्बिनेशन ड्रग है.

कॉम्बिफ्लैम टेबलेट के विषय में यह बात जाननी जरुरी है:

  • कॉम्बिफ्लैम निम्नलिखित दर्द मेंअसर दायक है – सर-दर्द, बुखार, पीरियड्स का दर्द, सर्दी- ज़ुखाम,जोड़ो में दर्द, शरीर में दर्द, गठिया दर्द, पीठ दर्द.
  • इस दवा कोअल्कोहल के साथ नहीं लेना चाहिए।यदि आपको एस्पिरिन से एलर्जी है, तो भी आप इस दवा का सेवन ना करें.
  • गर्भवती महिलाओं को बिना डाक्टरी सलाह के कॉम्बिफ्लैम टेबलेट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए
  • कॉम्बिफ्लैम को खाने के बाद लें

कॉम्बिफ्लैम से जुड़ी पूरी जानकारीऔर फेकन्यूज़ से दूर रहने के लिए आप “ख़बर पक्की है” प्रोग्राम पर कॉम्बिफ्लैम के बारे में ज़रूर सुनें. इस प्रोग्राम में वैज्ञानिक तरीके से हर गलत खबर का खंडन किया गया है. और जानकारी के लिए आप सनोफी के हेल्पलाइन नंबर 1800222295 पर भी कॉल कर सकते हैं.

एक खुशनुमा ज़िन्दगी जिसमें दर्द का कोई निशान नहीं है, आप सभी को मुबारक.और ध्यान रहे कि इस प्रकार के किसी भी व्हाट्सएप फार्वर्ड को मानने से पहले अपने डाक्टर से एक बार ज़रूर बात कर लें।

पढ़िये कोम्बिफ्लम के बारे में दूसरे लोग क्या कह रहे हैं:

http://tinabasu.com/combiflam-is-safe/

4 Comment

  1. Fake news ha become a headache these days… One should get it verified from trusted sources before believing.

  2. Wow ! I wonder what all people fall for without verifying the facts. You’ve said correctly that one needs to verify before believing any rumours.

  3. […] Pooja talks about her experience with her one of her patients and how she convinced him not to believe news blindly especially when it concerns […]

  4. I wish people checked facts before taking hasty decisions. My doctor said its completely safe and i’ll go by it.

Leave a Reply