यादों की निर्जन बस्ती में,पोटली लिए फिरा करती है झुमका,रिंग, हँसी,काजल,इमरोज़ के इश्क से इश्क करती है

यादों की निर्जन बस्ती में,पोटली लिए फिरा करती है झुमका,रिंग, हँसी,काजल,इमरोज़ के इश्क से इश्क करती है

Month: June 2013

Happy Father’s Day………………..Dad

Happy Father’s Day………………..Dad

God took the strength of a mountain,The majesty of a tree,The warmth of a summer sun,The calm of a quiet sea,The generous soul of nature,The comforting arm of night,The wisdom of the ages,The power of the eagle’s flight,The joy of a morning in spring,The faith […]